क्यों करते हैं नीम का सेवन
Next Article स्वस्थ रहना है तो बैठकर ही भोजन करें
Previous Article कैसे करें नूतन वर्ष का स्वागत

क्यों करते हैं नीम का सेवन

चैत्र माह से गर्मी का प्रारम्भ हो जाती है, जिससे ऋतुजन्य बीमारियाँ जैसे - फोड़े-फुंसी, घमौरी तथा अन्य चर्मरोगों आदि से बचाव के लिए नीम का सेवन उपयोगी होता है।
इस दिन स्वास्थ्य-सुरक्षा तथा चंचल मन की स्थिरता के लिए नीम की पत्तियों को मिश्री, काली मिर्च,अजवायन आदि के साथ प्रसादरूप में लेने का विधान है । 

तात्त्विक दृष्टि से देखें तो हमारे जीवन-व्यवहार में कड़वे घूँट पीने के भी अवसर आते रहते हैं अतः नीम का सेवन करते समय मानसिक तैयारी कर लेनी चाहिए कि ‘इस वर्ष प्रारब्धवश जो भी दुःख,मुसीबत,प्रतिकूलता,अपमान आदि के कड़वे घूँट पीने, उन्हें मैं प्रभु की कृपा समझकर पचा जाऊँगा । उस कड़वाहट को भी स्वास्थ्य का साधन बनाऊँगा । विघ्न-बाधा,दुःख की परिस्थितियों को भी ‘स्व' में स्थित होने हेतु समता के अभ्यास का साधन बनाऊँगा । शरीर को ‘मैं' व मन-बुद्धि के दोषों को अपने में न आरोपित करके साक्षी चैतन्य में टिकने का प्रयास करूँगा।

📚बाल संस्कार पाठ्यक्रम : मार्च
Next Article स्वस्थ रहना है तो बैठकर ही भोजन करें
Previous Article कैसे करें नूतन वर्ष का स्वागत
Print
1152 Rate this article:
1.0
Please login or register to post comments.
RSS
1345678910Last